मॉं …मै तेरी परछाईं हूँ ……

मॉं …मै तेरी परछाईं हूँ
भले ही आज पराई हूँ
पर तेरी ही जाईं हूँ
मॉं मैं तेरी परछाईं हँ …

तेरी गोद मे बचपन बीता
खेले खाये बड़े हुये
मासूम लड़कपन के वो दिन माँ
मैं अब तक भुला न पाई हूँ ….
मॉं .,मैं तेरी परछाईं हूँ …

तेरे प्यार का हर पल मॉं
मैंने अब तक सहेज के रक्खा है
दहेज मे मॉं मै वो हर लम्हा
साथ मे लेकर आई हूँ …
मॉं …मैं तेरी परछाईं हूँ …

नन्ही ऑंखों ने देखी
दुनिया तेरी ही ऑंखों से
तुझसे ही संस्कार मिले
सब तुझसे ही सीखी सिखाई हूँ …
मॉं …मैं तेरी परछाईं हूँ …

तुम हो एक आदर्श नारी मॉं
तुम ममता का सागर हो
तू ही बता ए मॉं मेरी
क्या तुझसी मैं बन पाई हूँ ….
मॉं ..मैं तेरी परछाईं हूँ …

मॉं ..मै तेरी परछाईं हूँ …
भले ही आज पराई हूँ …
पर तेरी ही जाईं हूँ …
मॉं ..मै तेरी परछाईं हूँ ..,❤️


Leave a Reply